Vedic Age Important topic

0
47
VEDIC AGE
VEDIC AGE

                       वैदिक सभ्यता (Vedic Age)

हडप्पा सभ्यता के पतन के बाद भारत में जो नवीन संस्कृति प्रकाश में आई, उसकी सम्पूर्ण जानकारी हमें वेदों से मिलती है। इसीलिए इस काल को वैदिक काल के नाम से जाना जाता है । इस संस्कृति के प्रवर्तक आर्य थे आर्य का अर्थ – श्रेठ, कुलीन एवं अभिजात आदि । आर्यों के मूल निवास स्थान को लेकर विद्वानों ने अलग अलग मत व्यक्त किये है –

आर्यों के मूल निवास स्थान सम्बन्धी मत

      विद्वान्                      –              निवास स्थान

  1. मेक्समूलर                    –         मध्य एशिया (सर्वाधिक मान्य)
  2. बाल गंगाधर तिलक          –                उत्तरी ध्रुव
  3. दयानन्द सरस्वती             –                 तिब्बत

वैदिक काल लगभग 1500 – 600 ई. पू. तक माना जाता है । भारत का प्राचीनतम धर्मग्रन्थ ऋग्वेद है, जिसके संकलनकर्ता महर्षि वेदव्यास को माना जाता है । वेदों की संख्या 4 है – ऋग्वेद, यजुर्वेद, सामवेद एवं अथर्ववेद ।

Vedic Age

ऋग्वेद

ऋग्वेदिक काल की जानकारी का एकमात्र साहित्यिक स्त्रोत ऋग्वेद है । जिसकी रचना अनुमानतः 1500-1000 ई. पू. के मध्य मानी जाति है | इसमें 10 मण्डल तथा 1028 श्लोक है, जिसमे से प्रथम और दशम मण्डल बाद में जोड़े गये थे । ऋग्वेद में इंद्र के 250 श्लोको का वर्णन है | गायत्री मंत्र भी ऋग्वेद में है, जिसके रचनाकार विश्वामित्र है । इसे पड़ने वाले पुरोहित को होतृ कहते है । इसमें अग्नि, इंद्र, सूर्य, वरुण एवं पूषण (पशुओ के देवता) आदि देवताओ की स्तुति संग्रहित है । ऋग्वेदिक काल में मनुष्य कबीलाई जीवन जीते थे तथा इनका व्यवसाय पशु पालन था । राजा को प्रजा द्वारा चुना जाता था और प्रजा राजा को अपनी इच्छानुसार अपनी आय का कुछ अंश देती थी, जिसे बलि कहा जाता था ।

ऋग्वेदिक काल के बाद उत्तर वैदिक काल (1000- 600 ई. पू.) में बाकी ग्रंथो – यजुर्वेद, सामवेद, अथर्ववेद, ब्राह्मण ग्रन्थ एवं उपनिषद आदि की रचनायें हुई । उत्तर वैदिक काल में मनुष्य स्थिर जीवन जीने लगा था तथा अब इनका व्यवसाय कृषि पर आधारित हो गया था । उत्तर वैदिक काल में अनेक देवी देवताओ की पूजा की जाने लगी तथा यज्ञ जादू टोना आदि होने लगे । इस काल में राजा का उत्तराधिकारी ही राजा होता था ।  Vedic Age

यजुर्वेद

यजुर्वेद में  श्लोको के साथ साथ उनको गाते समय किये जाने वाले अनुष्ठानो का भी वर्णन है । यह एकमात्र ऐसा वेद है जो गद्य एवं पद्य दोनों में है।यह वेद यज्ञ सम्बन्धी अनुष्ठानो पर प्रकाश डालता है ।इसे पड़ने वाले पुरोहित को अधर्व्यु कहते है ।

Vedic Age

सामवेद

सामवेद में गाये जा सकने वाले श्लोको का संकलन है । इसे भारतीय संगीत का जनक भी कहा जाता है ।इसे पड़ने वाले पुरोहित को उद्गातृ कहते है ।

अथर्ववेद

अथर्ववेद में रोग, निवारण, तंत्र-मंत्र, जादू-टोना, शाप, वशीकरण, आशीर्वाद, स्तुति, औषधि, अनुसंधान, विवाह, प्रेम एवं राजकर्म आदि विविध विषयों से सबद्ध मंत्र तथा सामान्य मनुष्यों के विचारो, विश्वासों, अन्धविश्वासो इत्यादि का वर्णन है । इसमें सभा एवं समिति को प्रजापति की दो पुत्रियाँ कहा गया है ।

सबसे प्राचीन का वेद ऋग्वेद एवं सबसे बाद का वेद अथर्ववेद है । वेदों को भली भांति समझने के लिए 6 वेदांगो की रचना हुई जो इस प्रकार है – शिक्षा, ज्योतिष, कल्प, व्याकरण, निरुक्त एवं छन्द ।

Vedic Age

VEDIC AGE
VEDIC AGE

     वैदिक साहित्य के स्त्रोत

 

वेद                   वेदों के ब्राह्मण               उपवेद           पुरोहित

 

  1. ऋग्वेद               ऐतरेय, कोषितकी           आयुर्वेद              होतृ

 

  1. यजुर्वेद                   शतपथ                   धनुर्वेद             अधर्व्यु

 

  1. सामवेद                  पंचविश                 गंधर्ववेद             उद्गातृ

 

  1. अथर्ववेद                  गोपथ                  शिल्पवेद             ब्रम्ह

Vedic Age

           ऋग्वेदिककालीन नदियाँ

 

 प्राचीन नाम                          –           आधुनिक नाम

 

  1. कुंभ                                 –               काबुल

2.  कुमु                                –                कुर्रम

3.  वितस्ता                            –                झेलम

4.  अस्किनी                           –               चेनाब

5.  परुषणी                            –                रावी

6.  विपाशा                             –              व्यास

7.  शातुद्री                             –              सतलज

8.  सदानीरा                           –              गंडक

9.  दृषद्वती                             –             घग्गर

10. गोमती                             –             गोमल

11. नदीतम                            –           सरस्वती

12. सुवस्तु                             –            स्वात

Vedic Age

प्रमुख तथ्य

 

  • दसराज युद्ध का उल्लेख ऋग्वेद के सातवें मण्डल में है । यह युद्ध परुषणी नदी (रावी) के तट पर सुदास एवं दस राजाओ के बीच हुआ था जिसमे सुदास विजयी हुआ था ।
  • संस्कार का अर्थ है शुद्धिकरण  । वेदों में 16 संस्कारों का उल्लेख मिलता है ।
  • ऋग्वेद में चार वर्णों का उल्लेख मिलता है – ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य एवं शुद्र ।
  • अधिकतर पुराण सरल संस्कृत श्लोक में लिखे गये है । स्त्रियां तथा शुद्र  जिन्हें देव पढने की अनुमति नहीं थी, वे भी पुराण सुन सकते थे । पुराणों का पाठ पुजारी मंदिरों में किया करते थे ।
  • स्त्रियों की सर्वाधिक गिरी हुई स्थिति मैत्रेयनी संहिता से प्राप्त होती है जिसमे जुआ और शराब की भाँति स्त्री को पुरुष का तीसरा मुख्य दोष बताया गया है । जबकि शतपथ ब्राह्मण में स्त्री को पुरुष का अर्धांगिनी कहा गया है ।
  • स्मृतिग्रंथों में सबसे प्राचीन एवं प्रमाणिक मनुस्मृति मानी जाती है । यह शुंग काल का मानक ग्रन्थ है ।

Vedic Age

Related Quiz

VEDIC AGE
VEDIC AGE

 

  1. ऋग्वेदिक संस्कृति का काल किसे माना जाता है ?

(अ) 1000-600 ई.पू.      (ब) 1500- 1000 ई.पू.

(स) 2000-1000 ई.पू.    (द) इनमे से कोई नहीं

 

  1. उतर वैदिक संस्कृति का काल किसे माना जाता है ?

(अ) 1500- 1000 ई.पू.      (ब) 1000- 600 ई.पू.

(स) 1500-500 ई.पू.         (द) इनमे से कोई नहीं

 

  1. आर्यशब्द का शाब्दिक अर्थ है –

(अ) विद्वान                      (ब) वीर या योद्धा

(स) श्रेठ या कुलीन           (द) पुरोहित

  1. संस्कारो की संख्या कितनी है ?

(अ) 6                  (ब) 16

(स) 5                  (द) 4

  1. ऋग्वेदिक आर्यों का मुख्य व्यवसाय क्या था ?

(अ) शिक्षा               (ब) पशुपालन

(स) व्यापार             (द) कृषि

 

  1. भारतीय संगीत का जनक किसे कहा जाता है ?

(अ) अथर्ववेद                 (ब) यजुर्वेद

(स) ऋग्वेद              (द) सामवेद

 

  1. प्रसिद्ध दसराज युद्ध (दस राजाओ का युद्ध) किस नदी के किनारे हुआ था ?

(अ) गंगा                 (ब) परुषणी

(स) ब्रह्मपुत्र             (द) कावेरी

 

  1. झेलम नदी का प्राचीन नाम क्या था ?

(अ) विपाशा            (ब) परुषणी

(स) वितस्ता            (द) कुम्भ

 

  1. अधर्व्यु किस वेद के पुरोहित थे ?

(अ) अथर्ववेद                 (ब) ऋग्वेद

(स) यजुर्वेद            (द) सामवेद

 

  1. ऋग्वेद में कितने श्लोक है ?

(अ) 1028            (ब) 1080

(स) 1022                      (द) 1032

उत्तर :- 1 (ब)  :  2 (ब)  :  3 (स)  :  4 (ब)  :  5 (ब)  :  6 (द)  : 7 (ब) :  8 (स)  :  9 (स) :  10 (अ)

Related post:- vedic sabhyata ke question answer 5000+ MOST IMPORTANT HISTORY QUESTIONS & ANSWERS FOR ALL COMPETITIVE EXAM part-3

 

Veda in Hindi questions 5000+ MOST IMPORTANT HISTORY QUESTIONS & ANSWERS FOR ALL COMPETITIVE EXAM part-2

Sindhu Ghati Sabhyata important notes

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here