Bharat Evam World Janjatiya Important topic for all exam

0
56
Bharat Evam World Ki Pramukh Janjatiya
Bharat Evam World Ki Pramukh Janjatiya

Bharat Evam World Janjatiya

भारत एवं विश्व की प्रमुख जनजातियाँ

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 366 (25) के अनुसार जनजाति से तात्पर्य उन जनजातीय समुदायों के समूहों से है जो संविधान के अनुच्छेद 342 के अंतर्गत अनुसूचित जनजातियों के रूप में माने गये है ।

भारत में आने वाला सबसे पहला प्रजाति समूह नीग्रो था तथा नार्डिक प्रजाति भारत में सबसे अंत में आई ।
जनजातीय विकास विभाग भारत सरकार के अनुसार भारत में जनजातीय समुदायों की संख्या 550 है ।
2011 की जनगणना के अनुसार जनजातियों की जनसंख्या संपूर्ण भारत की जनसंख्या के 8.6% है ।
मध्यप्रदेश सबसे अधिक जनजातीय जनसंख्या वाला राज्य है जबकि मिजोरम 94.4% प्रतिशतता के आधार पर सबसे अधिक जनजातीय जनसंख्या वाला राज्य है ।
भारत की सर्वाधिक आद्य जनजाति गोंड़ जो भारत की सबसे बड़ी जनजाति है । वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार भारत का सबसे बड़ा जनजातीय समूह भील है, इसकी जनसंख्या (17071049) है ।
गोड़ जनजातीय समूह जनसंख्या (13256928) की दृष्टि से दूसरा बड़ा जनजातीय समूह है ।
इसी प्रकार तीसरे एवं चोथे नंबर पर क्रमशः संथाल (6570807) तथा नैकदा (3787639) जनजातीय समूह है।

भारतीय जनजातियाँ 

 

 

 स्थान          –             जनजातियाँ

1. जम्मू कश्मीर – बक्कड़वाल, गद्दी जनजाति

2. हिमाचल प्रदेश – कनौरा, गड्डी या गुड्डी और लाहौली जनजाति

3. उत्तराखंड – जौनसारी, थारु, कोय, निति, भोटिया जनजाति

4. गुजरात – भील, बंजारा, डाफर, पटेलिया, टोडीया जनजाति

5. केरल – मोपला, कादर, पनियान, उराली, चेंचू जनजाति

Bharat Evam World Ki Pramukh Janjatiya
Bharat Evam World Janjatiya

6. मध्यप्रदेश – भील, कोल, लम्बाडी, बंजारा, गोंड़, मुरिया, वेगा, बिशनहॉर्न जनजाति

7. महाराष्ट्र – कोली, चितपावना, बारली जनजाति

8. मणिपुर – कुक्की, मेठी, अंगामी जनजाति

9. मेघालय – गारो, खासी, मिक्की, मिकिर, निंजा, जयंतिया जनजाति

10. मिजोरम – लाखर, पावो, मिजो, चकमा, लुशाई जनजाति

11. नागालैंड – नागा, कुकी, अंगामी जनजाति

12. उड़ीसा – जुआंग, खरिया, भुइया, बहरूपिया, सोंड जनजाति

13. राजस्थान – मीणा, सहरिया, सांसी, गरासिया, भील, कालबेलिया जनजाति

14. सिक्किम – लेपचा, भूटिया, शेरपा जनजाति

15. तमिलनाडु – कोटा, टोडा, बडगा, मलैया जनजाति

16. त्रिपुरा – रियांग, त्रिपुरी जनजाति

17. पश्चिम बंगाल – भूमिज, लोघा, होस जनजाति

18. असम – आवो, हिमारा, उफला, कोछरी, मिरी जनजाति

19. आंध्रप्रदेश – गोंड़, गदवा जनजाति

20. अरुणाचल प्रदेश – डबरा, मोंपा या मोनपा, मिनयोंग, मिश्मी, सुलुंग, मेजी, अपतनी जनजाति

21. झारखंड – संथाल, मुंडा, हो, ओराव, बिरहोर, कोरवा जनजाति

22. लक्षद्वीप – नारचो, वासी जनजाति

23. अंडमान निकोबार – शोम्पेन, औंजे, जारवा, सेंटलीज जनजाति

24. कर्नाटक – भारती, कुर्गी, पनियान जनजाति

25. छत्तीसगढ़ – कवरडा जनजाति

Bharat Evam World Ki Pramukh Janjatiya
Bharat Evam World Janjatiya

Note –

  • एक राज्य हरियाणा और एक केंद्र प्रशासित प्रदेश दिल्ली में कोई जनजाति निवास नही करती है ।
  • जनजातियों की शैक्षणिक संस्था को युवा गृह कहा जाता है ।
  • मिथन त्यौहार नागा जनजाति का है ।
  • संथाली लोग पुजारी को नायक कहते है ।
  • टोडा जनजाति पशुपलक है जो भेंस पालने का काम करती है ।
  • थारू जनजाति दीपावली को शोक त्यौहार के रूप में मानते है ।
  • खासी जनजाति के लोग झुमिंग कृषि करते है ।

Bharat Evam World Janjatiya

विश्व की प्रमुख जनजातियाँ

 

Bharat Evam World Ki Pramukh Janjatiya
Bharat Evam World Ki Pramukh Janjatiya

स्थान           –                 जनजातियाँ

1. उत्तरी अमेरिका – मंगोलाइड, रेड इंडियंस जनजाति

2. अलास्का, कनाडा, ग्रीनलैंड – इनुइट या एस्कीमो जनजाति (इग्लू में रहने वाले)

3. आर्मेनिया – कुर्दिश जनजाति

4. स्केंडिनेविया – लैप्स जनजाति

5. कालाहारी अफ्रीका – बुशमैन जनजाति (सर्वाहरी)

6. दक्षिण अफ्रीका – जुलू , इन्काथा जनजाति

7. मलेशिया – सेमांग लोह जनजाति (शुद्ध शाकाहारी)

8. डेमोक्रेटिक रिपब्लिक कांगो – पिग्मी जनजाति (पेड़ो पर रहने वाले)

9. जापान – ऐनु या आइनू जनजाति

10. युर्त (मध्य एशिया) – खिरगिज जनजाति

11. ऑस्ट्रेलिया – एबिर्जिन्स जनजाति

12. न्यूजीलैंड – माओरी जनजाति

13. नाइजीरिया – हौसा जनजाति

14. नील नदी घटी क्षेत्र – फेल्लाह जनजाति

15. म्यांमार – कचिन जनजाति

16. अफ्रीका – निग्रो जनजाति

17. केन्या अफ्रीका – मसाई जनजाति

18. पपुआ-न्य-गिनी – पपुआन्स जनजाति

19. ब्राजील – बोरो जनजाति

20. टुन्ड्रा प्रदेश – याकु जनजाति

21. साइबेरिया – युकाधिर जनजाति

Bharat Evam World Janjatiya

Previous Post:- Mauryottar Period Important topic

Maurya Empire Important topic

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here